Virender Sehwag biography in hindi। वीरेंद्र सहवाग जीवन परिचय

 Virender Sehwag biography in hindi  वीरेंद्र सहवाग जीवन परिचय

वीरेंद्र सहवाग एक विस्फोटक बल्लेबाज थे वह मैदान के किसी भी कोने में रन बनाना जानते थे वह जब बल्लेबाजी करने के लिए आते थे तब वह विस्फोटक अंदाज मे छक्के चौकों की शुरुआत ही करते थे जब उनके बल्ले से कवर ड्राइव निकलता था तो पूरा मैदान सहवाग के नाम से गूंजता था ऐसे में हम आपको वीरेंद्र सहवाग के बारे में जानकारी देंगे जिन्होंने क्रिकेट में बहुत नाम कमाया है

वीरेंद्र सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 में हरियाणा में हुआ था परिवार के थे वह एक जाट परिवार के थे और वीरेंद्र सहवाग को और नाम से भी जानते हैं वीरू और मुल्तान का सुल्तान वह हिंदू धर्म के थे उनके पिता का नाम किशन सहवाग और उनकी माता का नाम कृष्णा सहवाग था वीरेंद्र सहवाग के दो बहन और एक भाई थे और उनकी दोनों बहन का नाम मंजू और संजू था

और उनके भाई का नाम विनोद सहवाग था वीरेंद्र सहवाग की शुरुआती शिक्षा अरोरा विद्या स्कूल दिल्ली तथा जमिया मिलिया इस्लामिया कॉलेज न्यू दिल्ली ग्रेजुएशन हुआ वीरेंद्र सहवाग के पिता बताते हैं उनको 8 वर्ष की उम्र में क्रिकेट खेलने बहुत पसंद था जब उनके पिता ने उनको खिलौनों में बैट ला कर दिया

तो वीरेंद्र सहवाग बहुत खुश हो गए सन 2012 में जब क्रिकेट खेल रहे थे तो उनका दांत टूट गया जब वह शाम को घर लौटे तो उनके पिता नहीं उनको बहुत फटकारा और उनको बोलो कि आज के बाद तुम को क्रिकेट खेलने नहीं जाना है वह उस दिन पूरी रात रोए और वह सुबह को अपनी मां से सिफारिश करने लगे फिर उनकी मां ने विरेंद्र सेहवाग के पापा से बात किया और फिर उनको क्रिकेट खेलने को मौका मिल गया

वीरेंद्र सहवाग ने अपने कैरियर की शुरुआत 1997और 1998 में की उन्होंने दिल्ली में काफी क्रिकेट खेली फिर उनका सिलेक्शन 1998 में दिलीप ट्रॉफी में नार्थ जोन क्रिकेट टीम से इनको पांचवे स्थान पर खेलने को मौका मिला फिर उन्होंने कड़ी मेहनत की फिर इनको चौथे स्थान पर खेलने का मौका मिला इस दौरान 274 रन बनाए

पंजाब के खिलाफ साउथ जोन अग्रवाल अगरताल का नहीं हुआ उन्होंने 175 रणजी ट्रॉफी में बनाए फिर उनका चयन अंडर-19 ने किया गया जो साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच था

वीरेंद्र सहवाग अंतरराष्ट्रीय करियर

वीरेंद्र सहवाग 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ उनको खेलने को मौका दिया गया जब उनको बैटिंग करने को मौका मिला तो उन्होंने केवल इस मैच में 1 रन बनाए उस समय के सबसे जाने-माने बॉलर शोएब अख्तर ने उनको एलपीडब्ल्यू कर दिया और उनको जब बॉलिंग करने का मौका मिला तो वह बॉलिंग में भी नाकाम है उन्होंने 3 ओवरों मे 35 रन दिया फिर इनको खराब प्रदर्शन के कारण टीम से बाहर निकाल दिया गया

फिर उनको लगभग 21 महीने बाद टीम में वापस लाया गया उनको सन 2000 ने जिंबाब्वे के खिलाफ टीम में चुना गया लेकिन उनको खेलने का मौका नहीं मिला लगातार असफल होने के बाद वर्ष 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलूर के मैदान में उनको मौका मिला खेलने को उन्होंने 54 गेंदों पर 58 रन बनाए और वह इस मैच में मैन ऑफ द मैच भी रहे फिर वह धीरे-धीरे इंडिया टीम में जगह बनाई फिर उन्होंने ने अपना असली करियर शुरू हुआ और वह भी कभी पीछे मुड़कर नहीं देखें

वीरेंद्र सहवाग आंतरराष्ट्रीय डेब्यू

  • पहला वनडे मैच 1 अप्रैल 1999 में खेला था
  • पहला T20 मैच 1 दिसंबर 2006 को खेला था
  • पहला टेस्ट मैच 1 नवंबर 2001 में खेला था

वीरेंद्र सहवाग ने अपना आखिरी मैच कब खेला था इंटरनेशनल

  • आखरी वनडे मैच 3 जून 2013 को खेला था
  • आखरी टी20 मैच 2 अक्टूबर 2013 को खेला था
  • आखरी टेस्ट मैच 5 मार्च 2013 को खेला था

वीरेंद्र सहवाग की तीनों फॉर्मेट में रन

  • टेस्ट

वीरेंद्र सहवाग ने अब तक कुल 104 टेस्ट मैच खेल चुके हैं जिसमें से वह 8586 रन बनाए हैं उन्होंने ने 23 शतक के बाद 6 दोहरे शतक भी लगा चुके हैं इसके अलावा उन्होंने दो तिहरे शतक भी लगाए हैं उनका सर्वाधिक स्कोर 319 रन है उनका स्ट्राइक रेट 82.23 का है

  • वनडे

वीरेंद्र सहवाग ने अब तक कुल 251 वनडे मैच खेले हैं जिसमें से वह 8273 रन बनाए हैं और उनके बल्ले से 15 शतक भी निकला है और उनका स्ट्राइक रेट 104.33 का है उनका सर्वाधिक स्कोर 219 रन का है

  • T20

वीरेंद्र सहवाग ने अब तक कुल 19 T20 मैच खेले हैं जिसमें से 394 रन बनाए हैं और उनका सर्वाधिक स्कोर 68 रन का है वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर में ज्यादा T20 खेलने को मौका नहीं मिला इसीलिए उनका T20 कोई बड़ा रिकॉर्ड नहीं है

वीरेंद्र सहवाग के 5 इंटरनेशनल बड़े  रिकॉर्ड Virender Sehwag biography in hindi

  • वीरेंद्र सहवाग अब तक टेस्ट मैच में दो बार तिहरे शतक लगाए हैं और यह भारत के पहले खिलाड़ी है जो दो बार टेस्ट में तिहरे शतक लगाए हैं उन्होंने पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका के खिलाफ यह बड़ा रिकॉर्ड बनाया है
  • वीरेंद्र सहवाग के पास सबसे तेज तिहरे शतक लगाने का रिकॉर्ड है अभी तक किसी खिलाड़ी ने तोड़ नहीं पाया है
  • वीरेंद्र सहवाग ने अब तक वनडे मैच में 75 या 75 से कम गेंदों पर शतक बनाया है इन्होंने यह 6 बार किया है दुनिया भर में बात करें तो दुनिया के विस्फोटक बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने वनडे में 9 बार से भी ज्यादा यह रिकार्ड बनाया है एबी डीविलियर्स तो एक मैच 31 गेंदों में ही शतक बना दिए हैं
  • वीरेंद्र सहवाग ने अपनी पहले टेस्ट डेब्यु मैच में उन्होंने 105 रन की पारी खेली थी उन्होंने यह पारी 1 अप्रैल 2001 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेली थी वीरेंद्र सहवाग की पारी के बावजूद टीम इंडिया मैच हार गई थी
  • वीरेंद्र सहवाग वनडे में ही नहीं टेस्ट में भी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करना जानते थे वह भारत के इकलौते खिलाड़ी हैं जो टेस्ट मैच में स्ट्राइक रेट सबसे ज्यादा है उनका 104 टेस्ट मैच में स्ट्राइक रेट 82.23 का है वहीं दुनियाभर में बात करें तो वह दूसरे स्थान पे आते हैं पहले स्थान पर पाकिस्तान के ताबड़तोड़ बल्लेबाज शाहीन अफरीदी है उनका स्ट्राइक रेट 86.97 का है लेकिन वह अब तक कुल 27 टेस्ट मैच खेले हैं

वीरेंद्र सहवाग को मिलने वाले अवार्ड

  • विजडन लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द ईयर 2008 2009
  • पद्मश्री 2010
  • अर्जुन पुरस्कार 2010
  • आईसीसी अवॉर्ड फार प्लेयर ऑफ द ईयर2010

वीरेंद्र सहवाग का आईपीएल करियर

वीरेंद्र सहवाग 2008 से लेकर 2015 तक आईपीएल खेले उन्होंने आईपीएल में विस्फोटक बल्लेबाजी करना जानते थे वह हर गेंद पर छक्का चौका मारना जानते थे वह हर गेंद बाउंड्री की बाहर जाती थी धुरंधर के धुरंधर गेंदबाज उनके सामने बॉलिंग करते हुए डरते थे

वीरेंद्र सहवाग ने अब तक 2008 से लेकर 2015 तक आईपीएल खिले हैं उन्होंने 104 मैच में 2728 रन है और उनका स्ट्राइक रेट 155.4 का है वह आईपीएल किंग्स इलेवन पंजाब की तरह से खेलते थे एक मैच में सर्वाधिक स्कोर 122 रन का है उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ बनाया था

यह भी पढ़ें :_

मैं आप लोगों से आशा करता हूं कि Virender Sehwag biography in hindi आप लोगों को काफी पसंद आया होगा Virender Sehwag biography in hindi आप लोग हमें कमेंट में जरूर बताएं

Leave a Comment